फ़ाउंडेशन के बारे में

फ़ाउंडेशन के व्हेबसाइट में आपका सुस्वागत है!  

विवस्वान् फ़ाउंडेशन की स्थापना जुलाई २०११ में वर्षावा में हुई। भारतीय संस्कृति और ज्ञान के अध्ययन और इन्हें जीवन में कार्यान्वित कराना फ़ाउंडेशन का मुख्य उद्देश्य है। यह


- भारतीय शास्त्र व आध्यात्मिक ज्ञान का अध्ययन और प्रकाशन का कार्य करता है,
- भारतीय भाषाओं का अध्ययन-अध्यापन की व्यवस्था करता है,
- भारतीय संस्कृति और कला का प्रचार करता है,   

- योग और आयुर्वेद के ज्ञान और क्रियान्वय का संवर्धन करता है ।       

संस्थापक -
१) फ़िलिप रुचिंस्की (पं. शिवानन्द शास्त्री, एम. ए.), संपूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय में अध्ययन करके वार्सा यूनिवेर्सिटी से स्नातकोत्तर प्राप्त किया। उनका ज्ञानक्षेत्र है संस्कृत, भाषाविज्ञान, साहित्य, दर्शन कला आदि हैं।

२) स्कार्बीमीर रुचिंस्की (पं. योगानन्द शास्त्री)
संपूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय के, विद्यावारिधि (PhD) (योग-तन्त्र) और आचार्य (पुराणेतिहास)। 

फ़ाउंडेशन का इद्देश्य है भारत की विशिष्ट शास्त्रीय व सांस्कृतिक उपलब्धियों का संवर्धन करना। 

फ़ाउंडेशन का मुख्य केंन्द्र वार्षावा (पोलैंड) में है।



फ़ाउंडेशन व्यवसायिक अर्थोपार्जन नहीं करता।

पंजीकरण संख्या आदि - 

NIP 5213614071


REGON 143782820


KRS 0000392692

धनकोष संख्या -  46103000190109853000355091